मलेरिया के लक्षण ,कारण , निदान, उपचार , विकृति विज्ञान

मलेरिया के लक्षण : मानसून में पैदा होने वाली सबसे बड़ी समस्या में से एक मलेरिया है। कोई भी उम्र का इंसान चाहे वह बूढ़ा हो या जवान या कोई बच्चा ही क्यों ना हो इस बीमारी की चपेट में आने से नहीं रोक सकते अपने आप को जब तक अपनी देखभाल खुद ना करें। वैसे तो मलेरिया दुनिया भर में मानसून आते ही प्रभाव दिखाने लगता है परंतु ग्रामीण इलाके इसकी चपेट में ज्यादातर आ जाते हैं। इसे मे जब जब मानसून आता है तब तब हमें मलेरिया से हुई मौतें की खबर सुनने को मिलती है।
यकीन मानिए इस पोस्ट में आपको जरूर फायदा होगा और आप मलेरिया के लक्षणों को जानकर अपना पहले ही इलाज करके अपने आप को ठीक कर सकते हैं जिससे आपके परिवार या आपको किसी भी प्रकार से मलेरिया प्रभावित ना कर सके और आप अपनी जान बचा सकते हैं।

कुछ राज्यों और कुछ केंद्र शासित प्रदेशों की रिपोर्ट के अनुसार 2020 में डेंगू से पीड़ित 99.82 प्रतिशत लोग ठीक हुए हैं। जबकि एक सर्वे के अनुसार साल 2016 में भारत में मलेरिया के 7,16,230 पुष्ट मामले थे और इनमें न जाने कितनो की मौतें भी हुई थी।

यदि हम चाहे तो अपने आप को बचा सकते हैं अगर हमें पहले ही पता चल जाए कि मलेरिया किस प्रकार से हमें प्रभावित करने वाला है। तो हम अपनी इस पोस्ट में आज आपके लिए मलेरिया के लक्षण और उसके प्रभाव और उनके बचाव के तरीके लाए हैं।

आइए हम आपको पहले मलेरिया के बारे में पूरी जानकारी देते हैं जो हमने नीचे दिए हुए हैं।

मलेरिया

maleriya ke lakshan
maleriya ke lakshan

मलेरिया फैलाने वाला और कोई नहीं मच्छर ही होते हैं। यह बुखार मच्छरों की फीमेल प्रजाति इनोफिलीज के द्वारा काटने से होता है। इन माधव मच्छरों में एक खास प्रकार का जीवाणु पाया जाता है जिसे मेडिकल भाषा में प्लाज्मोडियम नाम से कहा जाता है। प्लाज्मोडियम (एककोशिकीय परजीवी) की पांच प्रकार की प्रजातियां मनुष्य को संक्रमित कर सकती हैं और मलेरिया बीमारी का कारण बन सकती है।

मलेरिया के लक्षण कब दिखते हैं

जब मादा मच्छर किसी व्यक्ति को काटती हैं तो इसके लक्षण दिखने में 7 से 30 दिन तक का समय लगता है। लेकिन कुछ परजीवी प्रजातियों का संक्रमण देखने के बाद भी प्रकट नहीं होता। जैसे उदाहरण के लिए हम ले सकते हैं जिस देश में मलेरिया पाया जाता है वहां जाने के 1 साल बाद तक आपको बुखार हो सकता है।
और यदि आप संक्रमण को रोकने के लिए दवा ले रहे हैं तो यह लंबा समय नहीं सकता है। वहीं अगर आप पहले से भी संक्रमण का शिकार हो चुके हैं तो आपके पास इम्यूनिटी होती है जिसकी वजह से आप मलेरिया के गंभीर लक्षणों का शिकार नहीं हो सकती या संक्रमित होने पर भी आप में इसके लक्षण नहीं दिखते।

मलेरिया के प्रकार हमने आपको नीचे बताए हैं इन सरकारों को आपको जानना चाहिए जिससे आप सतर्क रह सके।

मलेरिया के प्रकार

  • प्लास्मोडियम फलसीपेरम (P Falciparum)
  • प्लास्मोडियम मलेरिया ( P. Maleriae)
  • प्लास्मोडियम विवैक्स (P. Vivax)
  • प्लास्मोडियम ओवले (P. Ovale)
  • प्लास्मोडियम नोलेसी (P. Knowlesi)

यह थे कुछ प्रकार मलेरिया के जो हमने आपको बता दिए हैं। अब आपको हम बताने जा रहे हैं मलेरिया के लक्षण जिनसे आप प्रभावित होते हैं जो आपको बीमारी होते ही पता लगने लगते हैं।

मलेरिया के लक्षण

एक्सपर्ट के द्वारा यह माना गया है की मलेशिया के लक्षण एक व्यक्ति से दसरे व्यक्ति में अलग होते हैं। यहां कुछ बतों का ध्यान रखना चाहिए:

  • ठंड लगना
  • तेज बुखार
  • सिरदर्द
  • गले में खराश
  • पसीना आना
  • थकान
  • बेचैनी होना
  • उल्टी आना
  • एनीमिया
  • मांसपेशियों में दर्द
  • ब्लडी स्टूल (मल में खून आना)
  • आमतौर पर बीमारी महसूस करना

यदि आप इन लक्षणों का पहले ही अनुभव कर लेते हैं या पहचान लेते हैं तो आपको जल्दी से अपना इलाज शुरू करवा देना चाहिए। शुरुआत में ही यदि आप अपने इलाज कराना शुरू कर देते हैं तो मलेरिया आपको अधिक रूप से परेशान नहीं कर सकेगा और वह आपके शरीर से जल्द ही खत्म हो जाएगा।

क्या मलेरिया खतरनाक हो सकता है

यदि आपका इम्यून सिस्टम कमजोर है और आपके शरीर में दवा प्रतिरोधी परजीवी ( drug -resistant parasite) है तो स्थिति आपके लिए जानलेवा हो सकती है। परजीवी मस्तिष्क की रक्त वाहिकाओं यानी ब्लड वेसल्स में सूजन पैदा कर सकता है जिसे सेरेब्रल मलेरिया भी कहा जाता है।
यह पल्मोनरी एडिमा का कारण भी बन सकता है जो फेफड़ों में तरल पदार्थ का संचय है। यह किडनी और लिवर फैलियर का कारण बन सकता है और ब्लड शुगर लेवल को भी कम कर सकता है जिससे शरीर को भयंकर नुकसान पहुंच सकता है।

निष्कर्ष

तो हमने आपको पर बता दिया है कि मलेरिया के क्या लक्षण होते हैं, उनके प्रभाव किस तरह से होते हैं, उनके कितने प्रकार है, और यह कितने जानलेवा हो सकते हैं। मलेरिया मच्छर कोई साधारण मच्छर नहीं होते यदि आप इनसे बचाव कर ले गए तो आप अपनी जान बचा सकते हैं। हमने इस पोस्ट में आपको लक्षणों के बारे में अच्छी तरीके से रूबरू करा दिया है। तो यदि आपको मानसून में कभी मलेरिया के ऐसे लक्षण दिखाई देते हैं तो आपको जल्द से जल्द अपना इलाज करवाना चाहिए। थोड़ी सी देर आपकी जान ले सकती है।

Leave a Comment