Polytechnic course | पॉलिटेक्निक कोर्स क्या हैं? और पॉलीटेक्निक कोर्स कैसे करें?

पॉलिटेक्निक कोर्स क्या हैं? और पॉलीटेक्निक कोर्स कैसे करें? (Polytechnic course details in Hindi).

हर किसी का सपना अलग अलग होता है, हर कोई अलग-अलग फील्ड में अपना करियर स्टार्ट करना चाहता है और किसी भी क्षेत्र में करियर बनाने के लिए सबसे जरूरी होती है स्टडी। स्टडी के बिना कुछ भी संभव नहीं है लेकिन पढ़ाई करते वक्त हमेशा कोर्स चुनने में सावधानी बरतनी चाहिए ताकि आगे चलकर हमें कोई दिक्कत नहीं आये। लेकिन किसी भी कोर्स को करने के लिए हमें उस कोर्स के बारे में संपूर्ण जानकारी ले लेना चाहिए।

आज के पोस्ट में हम ऐसे ही एक पॉलिटेक्निक कोर्स क्या हैं? और पॉलीटेक्निक कोर्स कैसे करें? के बारे में बात करने वाले हैं। हमारे जो भी फ्रेंड पॉलिटेक्निक करना चाहते हैं वह इस आर्टिकल को पूरा पढ़कर यहां से पॉलिटेक्निक के बारे में संपूर्ण जानकारी हासिल कर सकते हैं। जिनको तकनीकी क्षेत्र में रुचि है वह पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कर सकते हैं और अपने करियर को निश्चित तौर पर एक सुनहरा मोड़ दे सकते हैं। तो चलिए अर्टिकल को पढ़ते हैं और जानते हैं, आखिर पॉलिटेक्निक है क्या। इस कोर्स को करने के लिए योग्यताएं क्या है। हमें ऐडमिशन कैसे मिलेगा और अगर हम इसको कोर्स को कर लेते हैं तो हमे जॉब कहां मिलेगा और सैलरी कितनी मिलेगी। इन सबके अलावा हमने कुछ और विषयों को भी इस लेख में कवर किया है तो प्लीज इस लेख को पूरा पढ़िये।

Polytechnic course details in Hindi
Polytechnic course details in Hindi

पॉलिटेक्निक कोर्स क्या हैं?

पॉलिटेक्निक दो शब्दों से मिलकर बना है पॉली और टेक्निक पॉली का मतलब होता है सीखना(Learn) और टेक्निक का मतलब होता है टेक्नोलॉजी(Technology) से संबंधित। यानी कि वह डिप्लोमा जिसमें हम टेक्नोलॉजी, इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इत्यादि और भी बहुत सी चीज़े सीखते हैं, उसे ही पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कहा जाता है।

पॉलिटेक्निक कोर्स के लिए शैक्षिक योग्यता कितनी होनी चाहिए?

अगर आप पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कुछ खास योग्यता की जरूरत नहीं पड़ती है। इसे आप हाई स्कूल से निकलने के बाद ही कर सकते हैं और इंटर के बाद भी कर सकते हैं। अगर आप हाई स्कूल के बाद पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करते हैं तो वह 3 साल का होता है। और अगर आप 12th के बाद यह डिप्लोमा करते हैं तो वह आपको 2 साल का कोर्स करना पड़ेगा। लेकिन आपको बता दें कि अगर आप पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करना चाहते हैं इसके लिए आपको हाई स्कूल में मैथ सब्जेक्ट होना पड़ेगा और इंटर में फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ सब्जेक्ट्स  के साथ पास होना पड़ता है।

पॉलिटेक्निक कोर्स काउंसलिंग(Counseling)

एंट्रेंस एग्जाम में मिले रैंक के आधार पर आपका कॉलेज का चुनाव किया जाता है। अगर एंट्रेंस एग्जाम में आपकी रैंक उतनी अच्छी नहीं रही तो आपको प्राइवेट कॉलेज मिलेगा जहां पर आपको इस डिप्लोमा को करने के लिए 30 से 35 हज़ार खर्च करना होगा। और अगर एंट्रेंस एग्जाम में आपकी रैंक अच्छी रहती है तो आपको सरकारी कॉलेज मिलेगा, जहां आपका 10 से 12 हज़ार में ही डिप्लोमा पूरा हो जाएगा।

पॉलिटेक्निक(Polytechnic) डिप्लोमा की पढ़ाई

जब आपका एडमिशन हो जाता है वहां पर आपको 2 से 3 वर्ष नियमित रूप से पढ़ाई करनी पड़ती है। पढ़ाई करने के लिए आपको ऐसा कुछ क्षेत्र चुनना चाहिए जो आपको अच्छा लगता है। यानी कि जिसमें आप रुचि रखते हैं, जो पढ़ने में आपको मन लगता है क्योकि कभी भी कोई पढ़ाई करने से पहले कोर्स चुनते समय जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए। पॉलिटेक्निक डिप्लोमा के बाद आप जॉब कर सकते हैं या फिर आप अगर चाहे तो आप आगे की पढ़ाई भी कर सकते हैं। पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करने के बाद आप अगर B.Tech करते हैं तो आप सीधे B.Tech के सेकंड ईयर में पहुंच जाएंगे। B.Tech के बाद आप M.Tech पूरा कर सकते हैं।

पॉलिटेक्निक एंट्रेंस एग्जाम लगभग हर राज्य में ऑर्गेनाइज की जाती है। यह एक्जाम हर साल अप्रैल, मई, जून के महीने में आयोजित होती है जिसमें आपके अंकों के आधार पर कॉलेज में एडमिशन हो जाते हैं।

पॉलिटेक्निक(Polytechnic)  डिप्लोमा करने के लिए आयु  सीमा(Age Limitation)

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करने के लिए स्टूडेंट की आयु सीमा कम से कम 14 वर्ष होनी चाहिए और अधिकतम आयु सीमा निर्धारित नहीं होती। आप अधिकतम आयु में भी इस कोर्स को कर सकते हैं।

पॉलिटेक्निक(Polytechnic) एंट्रेंस एग्जाम

अगर आप पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करना चाहते हैं इसके लिए आपको किसी अच्छे से कॉलेज में एडमिशन लेना होगा।  और एडमिशन लेने के लिए आपको पहले प्रवेश परीक्षा यानि Entrance Exam से गुजरना पड़ेगा और उस परीक्षा को  पास करना पड़ेगा और इस एग्जाम को देने के लिए आपको पॉलिटेक्निक का फॉर्म भरना  होगा। एंट्रेंस एग्जाम में आपके जो रैंक रहेंगे उसके अनुसार आपको कॉलेज मिलगा, यानी कि आप जितने अच्छा रैंक लाएंगे आपको उस मेरिट पर कॉलेज में एडमिशन मिल जाएगा। अब बात करते हैं एग्जाम पेपर के बारे में एंट्रेंस एग्जाम के पेपर में 50 प्रश्न गणित(Math) के आते हैं और 50 प्रश्न भौतिक विज्ञान(Physics) और रसायन विज्ञान(Chemistry) से होते हैं l और यह सारे प्रश्न बहुविकल्पीय होते हैं।

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा के एंट्रेंस एग्जाम में सभी तरह के वस्तुनिष्ठ यानी कि ऑब्जेक्टिव प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं। एग्जाम में गणित, रसायन और भौतिक विज्ञान से प्रश्न पूछे जाते हैं इसीलिए एग्जाम देने से पहले स्टूडेंट को Math, Chemistry और Physics तीनों विषयों में अच्छी समझ होनी चाहिए।

ऐसे प्रश्नों में चार विकल्प दिए हुए रहते हैं। जिनमें से आपको सही उत्तर का चुनाव करना होता है सही उत्तर चयन करने पर आपको 3 अंक मिलते हैं। और अगर आप गलत उत्तर देते हैं तो आपकी एक अंक काट लि जाती हैं यानी कि नेगेटिव मार्किंग होती है 01 l

पहले खण्ड में आपसे मैथ के 50 प्रश्न पूछे जाते हैं। जिनमें अंक गणित, बीज गणित, सांख्यिकी, त्रिकोणमिति, क्षेत्रमिति, रेखा गणित, निर्देशांक ज्यामिति इत्यादि से प्रश्न पूछे जाते हैं। यह प्रश्न 9th-10th क्लास के समतुल्य होता है।

दूसरे खंड में भौतिक विज्ञान और रसायन विज्ञान से 50 प्रश्न पूछे जाते हैं। भौतिक विज्ञान के प्रश्नों में पदार्थों के सामान्य गुण ध्वनि, उष्मा, प्रकाश, विद्युत चुंबकत्व, स्थिर विद्युत इत्यादि विषयों से प्रश्न पूछे जाते हैं। तो वहीं रसायन विज्ञान के प्रश्न में सामान्य और भौतिक रसायन, कार्बनिक रसायन, अकार्बनिक रसायन इत्यादि से प्रश्न पूछे जाते हैं। यह प्रश्न 9th-10th क्लास के समतुल्य होता है।

पॉलिटेक्निक Entrance Exam की तैयारी कैसे करें?

  • सबसे पहले आपको 10th क्लास के सभी Math, Chemistry, Physics के NCRT बुक पढ़नी चाहिए। और अगर आप 12th पास करने के बाद पॉलिटेक्निक डिप्लोमा का एंट्रेंस एग्जाम देने वाले हैं तो आपको 7th से लेकर 12th क्लास तक की NCRT बुक पढ़ना चाहिए।
  • आपको पुराने Question पेपर को Solve करना चाहिए।
  • आपको मॉडल Question पेपर को समय निकालकर Solve करने चाहिए। इससे आपकी Accuracy अच्छी होती है यानी कि आप कम समय में प्रश्न Solve कर सकेंगे।
  • आपको हफ्ते में कम से कम 1 दिन पढ़े हुए सभी विषयों का Rivision करना चाहिए।

पॉलिटेक्निक(Polytechnic) डिप्लोमा करने के फायदे: Career Options in Polytechnic Course

ऐसे तो पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करने के कई सारे फायदे हैं। अगर आप इस कोर्स को कर लेते हैं फिर आप अपनी मनमर्जी के अनुसार जॉब ले सकते हैं। क्योंकि आजकल ज्यादातर कंपनियों में ही पॉलिटेक्निक डिप्लोमा की काफी ज्यादा मांग रहती है।

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करने के बाद आप सरकारी और प्राइवेट दोनों क्षेत्रों में जॉब कर सकते हैं। अगर आप सरकारी नौकरी करना चाहते हैं जैसे कि रेलवे मैकेनिकल के अलावा भी पॉलिटेक्निक डिप्लोमा के क्षेत्र में सरकारी नौकरियां होती है। अगर प्राइवेट सेक्टर की बात करें तो आप NTPC  लिमिटेड, पावर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया, इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम, टाटा मोटर्स, स्टील अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया लिमिटेड के अलावा भी बहुत से क्षेत्र होते हैं जहां पर आप इस डिप्लोमा करने के बाद आसानी से जॉब ले सकते हैं। इसके अलावा आप स्वरोजगार कर सकते हैं और पॉलिटेक्निक कोर्स को करने के बाद आप जूनियर इंजीनियर(Junior Engineeer) भी बन सकते हैं।

पॉलिटेक्निक कोर्स करने के बाद सैलरी(Salary)

अगर सैलरी की बात करें तो पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करने के बाद आपको 15 हज़ार से 20 हज़ार तक प्रतिमाह वेतन मिल जाएगा। उसके बाद आपके योग्यता और आपके कार्य क्षमता के अनुसार आपका वेतन में बृद्धि हो जाएगी।

भारत के टॉप पॉलिटेक्निक कोर्स कॉलेज(Top polytechnic college of India)

  • Adhiparasakthi Polytechnic College (Kanchipuram)
  • Adesh Polytechnic College (Muktsar)
  • Anjuman Polytechnic (Nagpur)
  • Agnel Polytechnic Navi (Mumbai)
  • Chhotu Ram Polytechnic (Rohtak)
  • Government Polytechnic (Mumbai) 
  • Government Polytechnic (Pune)
  • MEI Polytechnic (Bangalore)
  • S H Jondhale Polytechnic (Thane)
  • V.P.M.’s Polytechnic (Thane)
  • Vivekanand Education Society’s Polytechnic (Mumbai)

आज आपने क्या सीखा?

आशा करते हैं आपको यह लेख पसंद आया होगा। इस post को ज्यादा से ज्यादा like मिले और आप सभी को बेहतर से बेहतर जानकारी प्राप्त हो यही हमारा लक्ष्य है। इस लेख में हमने पॉलिटेक्निक कोर्स के बारे में हर एक छोटे से छोटे बिंदु को कवर किया है ताकि आप सभी को संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो सके और जो लोग पॉलिटेक्निक करके अपना कैरियर इसी क्षेत्र में स्टार्ट करना चाहते हैं, उनकी अधिक से अधिक मदद हो सके। इस आर्टिकल में बताई गई सभी जानकारी 100 फ़ीसदी सही है और किसी भी तरह के संदेह की कोई गुंजाइश नहीं है। हमारा उद्देश्य हमेशा यही रहता है कि सही से सही जानकारी हमारे Readers तक पहुंचाई जाए और उसके लिए हम ज्यादा से ज्यादा रिसर्च करते हैं और फिर एक लेख तैयार करते हैं। यह अर्टिकल भी हमारे उसी प्रयास का एक हिस्सा है। आर्टिकल को पूरा पहनने के लिए आप सभी का  बहुत-बहुत धन्यवाद।

यह भी पढ़िए :-

Leave a Comment